दीपावली पर देवी लक्ष्मी का स्वागत बिना रंगोली के अधूरा होता है। विभिन्न नाम, पद्धति, डिजाइन एवं रंगों से बनी यह पारंपरिक कला प्रतीक है शुद्धता एवं सात्विकता की। दीपावली के पांचों दिन आंगन में जब खूबसूरत रंगों से बनी रंगोली सजी हो तो किसे अच्छा नहीं लगेगा। इस बार क्यों न दीपावली पर अलग तरह से रंगोली बनाकर अपने घर-आंगन को खुशियों के रंगों से भर दें। आइए जानें कैसे-

पारंपरिक रंगोली

पारंपरिक रंगोली बिंदु डालकर कभी सीधी तो कभी घुमावदार रेखाओं से बनाई जाने वाली आकृतियां हैं। इसमें कभी ज्यॉमेट्रिकल आकृतियां बनती हैं या जुड़ती है तो कभी फूल-पत्तियों के आकार भी बनते और जुड़ते हैं। ये रंगोली बनाने का सबसे पारंपरिक रूप है। जो लोग बिगिनर्स हैं उनके लिए रंगोली बनाने का यह बहुत आसान उपाय है। सफेद रंग या चावल के आटे से आउट लाइन बनाकर अपनी रूचि के अनुसार इनमें रंग भरे जाते हैं या आउट लाइन बनाकर यूं ही छोड़ दिया जाता है।

फ्री-हैंड रंगोली

फ्री-हैंड रंगोली असल में रंगोली का आधुनिक रूप है। यदि ड्राइंग में आपका हाथ सधा हुआ है तो फ्री-हैंड रंगोली आपके लिए अच्छा विकल्प है। ये बिना किसी अनुशासन के खुद ही अपनी कल्पनाओं को जमीन पर उतारने की विध्ाा है। इसमें आप जैसे चाहे आकार बना सकते हैं। चाहे तो आप किसी पौराणिक पात्र की रचना कर सकती हैं या फिर फूल-पत्ती कार्टून की या किसी दृश्य की। इसमें रंग-संयोजन की भी छूट होती है।

क्ले रंगोली

मार्केट में तरह-तरह की क्ले किट उपलब्ध है। क्ले रंगोली को आप फर्श, प्लेट, लकड़ी की शीट आदि पर बना सकती है। क्ले को अच्छे से गूंथते हुए रंगोली की आकृति तैयार कर उसे रंग-बिरंगे मोती, कांच, नग, शंख, लेस आदि से सजाया जाता है। इस रंगोली को बनाने का एक फायदा यह है कि इसके बनाने पर जगह साफ रहती है और यह एक जगह सेट हो जाती है। क्ले रंगोली को आप अपने लिविंग रूप के कॉर्नर में बनाकर डेकोरेट भी कर सकती हैं।

रेडीमेड रंगोली

अब तो बाजार में रेडीमेड रंगोली भी उपलब्ध्ा हैं, जो स्टिकर के रूप में कई डिजाइंस व आकार में रहती हैं। इन्हें आप जहां चाहे वहां चिपका सकते हैं। इसके अतिरिक्त रंगोली बनाने के लिए तरह-तरह के डिजाइन वाले सांचे भी उपलब्ध होते हैं, जिनकी सहायता से आप कम समय में सुंदर व कलात्मक रंगोली तैयार कर सकती हैं।

फूलों की रंगोली

दक्षिण भारत में ज्यादातर फूलों की रंगोली ही बनाई जाती है। यदि आपके पास भी बड़ी मात्रा में फूल उपलब्ध हों तो आप भी इस आकर्षक रंगोली को बनाकर अपना घर-द्वार सजा सकती हैं। अलग-अलग रंगों के फूलों से सजी रंगोली बेहद खूबसूरत दिखाई देती है। इन रंगोली पर दीयों की चमक पड़ते ही दमक उठता है घर-अंगना। तो फिर आप भी सजा लीजिए इस दीपावली पर रंगों की खूबसूरती अपने द्वार ताकि मां लक्ष्मी आप पर प्रसन्न रहें।